HomeYojanaPM Garib Kalyan Rojgar Yojana – Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan Online Registration

PM Garib Kalyan Rojgar Yojana – Garib Kalyan Rojgar Abhiyaan Online Registration

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत की। बिहार के खगड़िया जिले के तेलिहार गांव से योजना से शुरुआत हुई। मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत लद्दाख में शहीदों को श्रद्धांजलि देने के साथ की।

उन्होंने कहा कि शहीदों को परिवारों को भरोसा दिलाता हूं कि पूरा देश उनके साथ है। माना जा रहा है कि बिहार से योजना शुरू करने की वजह राज्य में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव हैं।

  • गरीब कल्याण रोजगार अभियान 125 दिनों का होगा, इसे देश के 116 जिलों में चलाया जाएगा, इससे 25 हजार से ज्यादा प्रवासी कामगारों को फायदा मिलेगा

योजना के तहत पक्के घर बनेंगे, जल-जीवन मिशन को आगे बढ़ाएंगे

इसके तहत अलग-अलग गांव में कहीं गरीबों के लिए पक्के घर भी बनेंगे। कहीं शेड बनाए जाएंगे। कहीं जल-जीवन मिशन को आगे बढ़ाया जाएगा। कहीं जरूर है, सड़कों के निर्माण पर भी उतना ही जोर दिया जाएगा।

जहां पंचायत भवन नहीं हैं, वहां पंचायत भवन भी बनाए जाएंगे। साथ-साथ इस अभियान से आधुनिक सुविधाओं से भी गांवों को जोड़ा जाएगा। गांव में सस्ता और तेज इंटरनेट होना जरूरी है, ताकि हमारे बच्चे पढ़ सकें। गांव में शहरों से ज्यादा इंटरनेट इंस्तेमाल हो रहा है। गांव में फाइबर केबल पहुंचे, इससे जुड़े काम भी होंगे। ये काम गांव के ही लोग करेंगे। आप लोग ही करेंगे।

सवाल-जवाब में समझें, गरीब कल्याण रोजगार अभियान

क्या है गरीब कल्याण रोजगार अभियान का मकसद?

इसका मकसद कामगारों को उनकी रुचि और कौशल के तहत रोजगार और स्वरोजगार उपलब्ध कराना है।

कितने राज्यों के कितने जिले शामिल हैं?

6 राज्यों के 116 जिले। बिहार के 32, उत्तर प्रदेश के 31, मध्य प्रदेश के 24, राजस्थान के 22, ओडिशा के 4 और झारखंड के 3 जिले शामिल हैं। इनमें करीब 88 लाख प्रवासी मजदूर अन्य राज्यों से लौटे हैं।

बिहार से सबसे ज्यादा जिले शामिल करने की वजह?

बिहार में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव हैं। यहां जदयू-भाजपा गठबंधन की सरकार है।

योजना के तहत कितने दिन रोजगार मिलेगा?

गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत साल में 125 दिनों तक रोजगार मुहैया कराने की योजना है।

योजना के लिए कितना बजट रखा गया है? 

50 हजार करोड़ रुपए। कामगारों को योग्यता के हिसाब से 25 तरह के काम दिए जाएंगे। इनमें सड़क, ग्रामीण आवास, बागवानी, पौधारोपण, जल संरक्षण और सिंचाई, आंगनबाड़ी, पंचायत भवन और जल जीवन मिशन जैसे काम शामिल हैं।

जिन 6 राज्यों में योजना लागू हो रही, वहां किसकी सरकार है?

6 में से 3 राज्यों मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश में भाजपा, बिहार में भाजपा-जदयू गठबंधन की सरकार है। राजस्थान में कांग्रेस, ओडिशा में बीजू जनता दल (बीजेडी) और झारखंड में  जेएमएम, कांग्रेस और आरजेडी की सरकार है।

किस राज्य में कितने प्रवासी मजदूर लौटे 

  • उत्तर प्रदेश: 35 लाख से ज्यादा
  • मध्यप्रदेश: 25 लाख से ज्यादा
  • बिहार: 15 लाख से ज्यादा
  • झारखंड:  2 लाख से ज्यादा
  • राजस्थान: 10 लाख से ज्यादा
  • ओडिशा: एक लाख से ज्यादा

Leave a Comment